क्या 5 मई के बाद नहीं यूज कर पाएँगे WhatsApp, जानें इसके बारे में क्या कहती है ऐप

loading...

WhatsApp ने कुछ समय पहले अपनी नई प्राइवेसी पॉलिसी को पेश किया था, लेकिन जब उसका जमकर विरोध हुआ और यूजर्स ने वॉट्सऐप को त्यागना शुरू किया तो उसने हाल ही में अपनी नई प्राइवेसी पॉलिसी को रोक दिया। कंपनी ने यह कदम अपने यूजर्स को दूसरे प्लेटफॉर्म पर जाने से रोकने के लिए किया और अभी इसको लेकर कार्य कर रही है।

अब ऐसा मालूम चल रहा है कि कंपनी यह साफ करना चाहती है कि 15 मई तक नई प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर लोगों के बीच क्या भ्रम हैं। मिली जानकारी के अनुसार, वॉट्सऐप के लेटेस्ट एंड्रॉयड बीटा अपडेट वर्जन 2.21.4.13 में नई प्राइवेसी पॉलिसी के बारे में साफ दिखाया गया है कि यूजर्स को पॉलिसी के में किस प्रकार की गलतफहमी हैं।

मिली जानकारी के अनुसार, वॉट्सऐप अपने यूजर्स के साथ कुछ जानकारी साझा करेगी ताकि नई प्राइवेसी पॉलिसी के बारे में उन्हें कुछ समझ आए। पता चला है कि एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन पॉलिसी में किसी प्रकार का बदलाव नहीं है। जिससे साफ होता है कि यूजर्स की पर्सनल चैट पर्सनल ही रहेगी। दूसरी ओर बिजनेस चैट में ऑप्शन रहेगा। यूजर्स की प्रोफाइल को फेसबुक पर टाग्रेट ऐड देने के लिए किसी भी प्रकार की जानकारी का इस्तेमाल नहीं किया जाएगा।

आपको बता दें कि वॉट्सऐप ने नई प्राइवेसी पॉलिसी की घोषणा की थी, जिसमें यहा तो उन्हें पॉलिसी को मानना था और अन्यथा उसे डिलीट करना था। हालांकि उसके बाद कंपनी ने पीछे हटते हुए यहा स्टेटमेंट दिया था कि अपडेट से यूजर्स की चैट या प्रोफाइल डेटा का कोई लेना-देना नहीं है। कंपनी यह साफ करना चाहती है कि नई पॉलिसी अपडेट से किसी भी प्रकार से दोस्तों या परिवार के साथ चैट की प्राइवेसी पर प्रभाव नहीं पड़ता है।

WhatsApp के लिए पिछले कुछ महीने आसान नहीं रहे हैं और यह उसकी नई प्राइवेसी पॉलिसी के चलते हुआ है। अब वॉट्सऐप एक नए मिशन के लिए कमर कस रहा है और नई पॉलिसी को लेकर भ्रम फैलने से रोकने के लिए एक नया कैंपेन चला रहा है। WhatsApp पर यह आरोप लगा था कि उसने अपने यूजर्स पर अपनी नई प्राइवेसी पॉलिसी को थोपने की कोशिश की थी। पहले वॉट्सऐप ने कहा था कि नई पॉलिसी 8 फरवरी से लागू हो जाएंगी, लेकिन बाद में इसे आगे बढ़ाते हुए 15 मई कर दिया था।

WhatsApp का क्या कहना है?
WhatsApp अब सबसे पहले अपने यूजर्स को जागरुक करना चाहता है और नई पॉलिसी से संबंधित गलतफहमी से लड़ने के तैयार करना चाहता है। अब यह नए कैंपेन के साथ आ रहा है कि लोगों को पता चले कि आखिर नई पॉलिसी से आने से कैसे बदलाव होने वाले हैं और कैसे बदलाव नहीं होंगे।

Loading...

वॉट्सऐप ने एक ब्लॉग में कहा कि ‘हम नए अपडेट किए गए प्लान को शेयर कर रहे हैं, जिसमें हम WhatsApp यूजर्स से हमारी नई सर्विस पॉलिसी और प्राइवेसी पॉलिसी की समीक्षा करवाएंगे। हमें पहले ही लोगों को काफी भ्रमित होते हए देखा है और लोगों के बीच गलत सूचना पहुंची है और अब हम किसी भी प्रकार का भ्रम दूर करने के लिए तैयार हैं।’

15 मई को क्या होगा: जब पहली बार WhatsApp ने अपने यूजर्स को अपनी नई प्राइवेसी पॉलिसी के बारे में बताया था, तब इसे 8 फरवरी से लागू किया जाना था। मगर जब इसका जमकर विरोध हुआ और लोगों ने वॉट्सऐप को छोड़कर दूसरे ऑप्शन तलाशने शुरू किए तो इसे आगे बढ़ाकर 15 मई कर दिया गया। वहीं सिर्फ तारीख में बदलाव हुआ है, लेकिन नियम और शर्त अभी भी बरकरार हैं। अब नई प्राइवेसी पॉलिसी 15 मई से लागू की जाएगी।

यूजर्स को सर्विस जारी रखने के लिए नियम और शर्तों को स्वीकार करना होगा। अगर आप इन्हें स्वीकार नहीं करते हैं तो आपको वॉट्सऐप की सर्विस को जारी नहीं रख पाएंगे। हालांकि अब वॉट्सऐप ने काफी कुछ साफ कर दिया है कि यह प्राइवेसी पॉलिसी कैसे काम करेगी और इसका काम क्या है, क्या वॉट्सऐप के यूजर्स की निजी चैट तक पहुंच बनेगी। वॉट्सऐप ने यह साफ किया है कि यूजर्स की चैट एंड-टू-एंड एन्क्रिप्टेड हैं और इसमें कोई चिंता की बात नहीं है।

WhatsApp नए कैंपेन के तौर पर चैट विंडो के टॉप पर छोटा बैनर डिस्प्ले करेगा। आने वाले एक दो सप्ताह में वॉट्सऐप यूजर्स के लिए छोटे बैनर पेश करना शुरू करेगा। बैनर के जरिए इस मैसेजिंग ऐप के यूजर्स को सूचित किया जाएगा कि नई पॉलिसी कैसे बदलाव लाएगी और कंपनी यूजर्स की कितनी जानकारी एकत्रित करेगी।

सबसे पहले यूजर्स को नई पॉलिसी को रिव्यू करने का समय मिलेगा और फिर उन्हें स्वीकार करने का ऑप्शन दिया जाएगा। यह बैनर चैट के टॉप पर शो होगा। जहां पर उसे पढ़ने के लिए यूजर्स को रिव्यू करने के लिए ‘टैप टू रिव्यू’ पर टैप करना होगा। एक बार आने के बाद यूजर्स को वॉट्सऐप नई पॉलिसी को पढ़ने के लिए रिमाइंड करता रहेगा और फिर उसके बाद नए अपडेट को स्वीकार करने के लिए कहेगा।

loading...
Loading...