खुद भगवान विष्णु ने बताई ये बात, ऐसे होगा कलियुग का विनाश

हिंदू धर्म में भगवान विष्णु को पूरे संसार के रचनाकर्ता, रक्षक और ब्राह्माण्ड का देवता माना जाता है. इस ब्राह्माण्ड देवता को ब्रह्मा, विष्णु और शिव के तीन रूपो में भी जाना जाता है. वेदो में इस पूरे संसार की बनाने में ब्रह्मा, विष्णु और महेश का वर्णन किया गया है. वेदों में बताया गया है कि ईश्वर अजन्मा, अप्रकट और निराकार है इसलिए भगवान विष्णु को ब्राह्माण्ड देवता और उनके पिता को लेकर कई मतभेद हुए हैं. बताया जाता है कि जिस समय धरती पर आग, पानी, वायु कुछ भी नहीं था तब इस ब्राह्माण्ड देवता ने सृष्टि की रचना की थी. सृष्टि की रचना करने वाले विष्णु ने कलियुग के विनाश के बारे में भी बताया है.

कलियुग की शुरुआत
भगवान विष्णु जी ने कहा जब इस दुनिया में पाप ज्यादा हो जाएगा, तो समझ जाना के कलियुग की शुरुवात हो चुकी है. मगर एक आम इंसान को कैसे पता चलेगा की कलियुग शुरु हो चुका है… तो आज मैं आपको बताने जा रही हूं कुछ संकेत…..
विष्णु का मनना है जब महिलाएं बाल कटवाने लगे तो समझ लेना कलियुग की शुरुआत हो गई है आज के समय में फैंशन के तौर पर शादीशुदा महिला भी बाल कटवा लेती है जिनके लिए बालों को श्रृंगार कहा जाता था.

रंगीन बाल से कलियुग की शुरुआत
कलियुग की शुरुआत रंगीन बालों से भी की जा सकती है. पहले के समय में प्राकृतिक खूबसूरत बालों को रंगना बुरा माना जाता था लेकिन कलियुग शुरु होते ही लड़कियां, लड़के बाल रंगवाने लगे. विष्णु ने कहा था कि कलियुग में महिलाओं के लंबे और काले बाल नहीं दिखाई देंगे.

बेटा-बाप पर उठायेगा हाथ

विष्णु जी ने बताया है जिस दिन बेटा बाप पर हाथ उठा ले तो समझ लेना कलियुग ने चौखट पर पैर रख दिये हैं. कलियुग में बाप-बेटा, भाई-भाई और बहन-भाई एक दूसरे के खून के प्यासे बन जायेंगे.

कलियुग में कोई भी व्यक्ति अपने स्वर्थ के लिए किसी से भी झूठ बोल देगा, यहां तक अगर उसे अपने बचाव के लिए झूठी कसम भी खानी पड़े तो भी वो खाने को तैयार हो जायेगा.

लड़कियां नहीं होगी सुरक्षित
कलियुग में लड़कियों को पैदा होना बोझ लगने लगेगा क्योंकि उनकी सुरक्षा न करके उनके घर के बाप, भाई ही हवस के भूखे बन जायेंगे.

शादी जैसे पवित्र रिश्ते से होगा खिलवाड़

Loading...

कलियुग में लड़का-लड़की परिवार जाति, धर्म की चिंता न करते हुए किसी से भी शादी कर लेंगे और शादीशुदा है वो एक दूसरे गलत संबंधों का शक करेंगे.

कम उम्र में मौत

कलियुग में व्यक्ति का 40 या 60 साल तक जिंदा रह पाना मुश्किल होगा. उनके खाने-पीने से लेकर रहने तक में लोग अपने स्वार्थ और लालच में गलत चीजें बेचना शुरु कर देंगे जिससे व्यक्ति की जल्दी मौत होना निश्चित है.

कलियुग का विनाश

जब देश में ज्यादा आंधी, तूफान, बाढ़ और सूखा पड़ने से लोग मरने लगे तब समझ लेना कलियुग का विनाश होने वाला है

जब 7 साल की कन्या बच्चे को जन्म देगी तो समझ लेना घोर कलियुग आ गया है जिसका विनाश होना जरूरी है.

जब दुनिया में घोर कलियुग हावी हो जायेगा तो इस सृष्टि को बनाने वाले ब्रह्मा, विष्णु और महेश तीनों मिलकर इस सृष्टि का अंत करेंगे

loading...
Loading...

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.