टेस्ट क्रिकेट में सबसे अधिक बार 100+ की औसत से रन बनाने वाले 5 बल्लेबाज

टेस्ट मैच लीजेंड बनाते हैं. लंबे समय तक, टेस्ट प्रारूप को एक बल्लेबाज के लिए सही परीक्षा माना जाता है. क्रिकेट इतिहास के कुछ महानतम बल्लेबाजों ने खेल के सबसे लंबे प्रारूप में अपनी पहचान बनाई है. इस लेख में, हम 5 खिलाड़ियों पर एक नज़र डालेंगे जिन्होंने एक द्विपक्षीय टेस्ट श्रृंखला में सबसे अधिक बार 100+ औसत बनाए.

5) शिवनारायण चन्द्रपॉल- 8 बार

शिवनारायण चंद्रपॉल एक वेस्ट इंडियन लीजेंड हैं. वह टेस्ट क्रिकेट में 8वें सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी हैं. 19 साल की उम्र में अपने टेस्ट करियर शुरुआत करते हुए, चंद्रपॉल की शुरुआत के 3 साल बाद शतक नहीं बनाने के लिए आलोचना की गई थी. तब से उन्होंने अपने लिए एक बेहद सफल करियर बनाया है और वेस्ट इंडीज टीम के कप्तान भी थे. उन्होंने खेल के सबसे लंबे प्रारूप में 51 के करीब की औसत से 11,000 से अधिक रन हैं. 2015 में खराब फॉर्म के बाद चंद्रपाल को संन्यास के लिए मजबूर किया गया था.

4) रिकी पोंटिंग – 8 बार

रिकी पोंटिंग अंतर्राष्ट्रीय इतिहास में सबसे सफल कप्तान हैं, जिनका जीत प्रतिशत 67 है. उन्होंने 168 टेस्ट मैचों में 13,378 रन बनाए. उनका टेस्ट औसत भी 51.85 था. पोंटिंग अपने सुरुचिपूर्ण पुल शॉट के लिए विशेष रूप से प्रसिद्ध थे. उन्होंने द्विपक्षीय श्रृंखला में 8 बार औसत 100+ बनाए रखा. पोंटिंग रिटायर्ड हो चुके हैं और उन्होंने मुंबई इंडियंस और ऑस्ट्रेलिया की राष्ट्रीय टीम के लिए कोचिंग ड्यूटी को निभाया है. उन्हें प्लेयर ऑफ़ द डिकेड 2000 भी घोषित किया गया था.

3) जैक्स कैलिस – 8 बार

Loading...

जैक्स कैलिस को दुनिया का सर्वश्रेष्ठ ऑलराउंडर माना जाता है. दक्षिण अफ्रीकी खिलाड़ी बल्ले और गेंद के साथ अविश्वसनीय रहे. उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में 13000 से अधिक रन बनाए और द्विपक्षीय श्रृंखला में 8 बार 100+ औसत रन बनाए. कैलिस ने अब खेल के सभी प्रारूपों से संन्यास ले लिया है.

2) कुमार संगकारा- 9 बार

जब श्रीलंकाई बल्लेबाजों की बात आती है, तो कुमार संगकारा से बेहतर हैं. पूर्व कप्तान 22 गज पिच पर सबसे महान श्रीलंकाई बल्लेबाजों में से एक था. उन्होंने 12000 से अधिक रन बनाए और उनका औसत लगभग 57 था. उन्होंने द्विपक्षीय श्रृंखला में 9 बार 100+ औसत बनाए रखा. 2019 में संगकारा एमसीसी के पहले गैर-ब्रिटिश प्रेसिडेंट बने थे.

1) सचिन तेंदुलकर- 9 बार

सचिन तेंदुलकर के बिना ये सूची अधूरी हैं. मास्टर ब्लास्टर ने क्रिकेट में एक ऐतिहासिक छाप छोड़ी है. उन्होंने द्विपक्षीय श्रृंखला में 9 बार अविश्वसनीय रूप से 100+ की औसत से रन बनाए. अपने टेस्ट करियर में सचिन ने 51 शतकों की मदद से 15,921 रन बनाए, इस दौरान उनका करियर औसत 53.8 रहा. वह अब रिटायर्ड हो चुके हैं और राज्यसभा सांसद हैं.

loading...
Loading...