पीरियड्स रोकने की दवाई लेने वाली हर महिला सावधान, जरूर पढ़ ले ये खबर

loading...

हर महीने जब महिलाओं के पीरियड्स का समय आता है तब, उन्हें अपने खान-पान को लेकर सजगता बरतनी चाहिए। वरना इससे उनके पीरियड्स में नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है। इस दौरान की गई गड़बड़ी पेट की कई बीमारियों को जन्म दे सकती है। साथ हीइन्फेक्शन का खतरा भी बढ़ाती है। इसलिए आपको ऐसे खाद्य पदार्थों से परहेज करने की जरूरत है जिससे आपको पेट दर्द होने लगे या फिर इसका असर पीरियड्स पर दिखे।

महिलाओं को हर महीने मासिक धर्म के दर्द से गुजरना पड़ता है। किसी ट्रिप पर जाना हो या कोई शादी अटेंड करनी हो, पीरियड्स हमेशा गलत टाइम पर आ जाते हैं। इन फंक्शन्स को एंज्वॉय करने के लिए बहुत सी औरतें तो घरेलू नुस्खे या दवाइयों का सेवन करती हैं ताकि पीरियड्स डेट को आगे बढ़ा दिया जाए।

Loading...

हो सकते है ये नुकशान:

  • महिलाओं की पीरियड साइकिल 28 दिनों की होती है। अगर आपके पीरियड्स का कोई फिक्स टाइम नहीं है या यह कभी भी आ जाते हैं तो आप तुरंत डॉक्टर्स से संपर्क करें।
  • कई बार ऐसी दवाइयों के सेवन से हार्मोन इम्बलेंस हो जाते हैं, जिसके कारण पीरियड्स 2 महीने या इससे भी ज्यादा समय के बाद आते हैं।
  • इससे आपको अनियमित पीरियड्स की समस्या हो सकती हैं। दरअसल, जब 28-30 दिन का चक्र बिगड़ता है तो ओव्‍यूलेशन में गड़बड़ हो जाती हैं जो महिलाओं की प्रजनन प्रणाली पर इफैक्ट डालती हैं।
  •  पीरियड्स बंद करने वाली दवाइयों के सेवन कई महिलाओं को हैवी ब्लीडिंग होने लगती हैं और दर्द असहनीय रूप ले लेता है।
  •  अगर आपकी उम्र 30 साल से ज्यादा है और आपको डायबिटीज या मोटापे की शिकायत है तो आपको इन दवाइयों के सेवन से बचना चाहिए क्योंकि यह इनसे आपको रिएक्शन हो सकता हैं।

loading...
Loading...

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.