गंदी राजनीति: विरोध के बाद भी लड़ना चाहता था प्रधानी, दबंगों ने बेटी के साथ किया गैंगरेप

loading...

उत्तर प्रदेश के बाराबंकी जिले में पंचायत चुनाव को लेकर अब तक की सबसे भयावह तस्वीर सामने आई है। आरोप है कि चुनाव न लड़ने का दबाव न मानने पर एक सम्भावित प्रत्याशी की बेटी को पहले अगवा कर लिया गया और फिर उसके साथ चार लोगों ने सामूहिक दुष्कर्म किया। बाराबंकी पुलिस ने अपनी गहनता से जांच शुरू कर दी है। पीड़िता का मेडिकल परीक्षण कराने के लिए भेज दिया गया है ।

जानकारी के अनुसार, बाराबंकी जनपद के थाना जैदपुर इलाके के एक गांव में एक लड़की को उस वक्त अगवा कर लिया गया जब वह पढ़ाई करने के लिए स्कूल जा रही थी। लड़की को रास्ते से अगवा करने के बाद आरोपी चारों युवक लड़की को सुनसान जगह पर ले गए और उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। लड़की घर आकर अपने घरवालों को आपबीती बताई और फिर घरवालों ने पुलिस में अपनी शिकायत दर्ज कराई।

पीड़ित लड़की का पिता ग्राम प्रधान पद का है उम्मीदवार

पीड़ित लड़की के पिता ने बताया कि वह गांव में ग्राम प्रधान पद का उम्मीदवार है और वह चुनाव न लड़े इसके लिए पिछले कई दिनों से उस पर दबाव बनाया जा रहा था। जब वह नहीं माना तो उसे पैसों का लालच दिया गया। फिर भी जब वह नहीं माना तो कल (बुधवार) उनकी 16 वर्षीय लड़की का अपहरण गांव के ही चार युवकों आकाश वर्मा , लालजी वर्मा, सचिन वर्मा और शिवम वर्मा ने स्कूल जाते समय कर लिया और फिर उसके साथ गलत काम करने के बाद घर के सामने छोड़ दिया।

Loading...

आरोपी युवकों के खिलाफ परिजनों ने दी तहरीर

पिता ने बताया कि बेटी की आपबीती सुनने के बाद उसने आरोपी युवकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने की तहरीर दी है। वहीं, पीड़ित लड़की ने बताया कि वह राजकीय इंटर कालेज की छात्रा है। बुधवार को जब वह पढ़ाई के लिए स्कूल जा रही थी तो गांव के ही चार युवकों ने उसका अपहरण कर लिया और उसके साथ गलत काम किया है।

पुलिस का है कहना

बाराबंकी के अपर पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार पांडेय ने बताया कि थाना जैदपुर की रहने वाली एक लड़की ने तहरीर दी है। गांव के चार युवकों पर उसे अगवा करने और दुष्कर्म करने का आरोप लगाया है। लड़की की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर लिया है और लड़की का मेडिकल परीक्षण कराने के साथ गहनता से जांच की जा रही है।

loading...
Loading...